लंदन,एएनआइ। स्कूलवपरिवारकीतरफसेसमाजकीअपेक्षाकेअनुरूपआदर्शलड़कीबननेकादबावकिशोरियोंकेमानसिकस्वास्थ्यकेलिएखतरनाकहोताहै।एजुकेशनलरिव्यूनामकपत्रिकामेंप्रकाशितएकहालियाशोधमेंदावाकियागयाहैकिस्कूलवपरिवारकामाहौलसभीप्रकारकीपृष्ठभूमिवालीलड़कियोंमेंतनावकाकारणहोसकताहै।

अच्छेग्रेडलाने,प्रसिद्धहोने,शिक्षणेत्तरगतिविधियोंमेंसहभागितावसुंदरहोनेआदिकादबावकिशोरियोंकेमानसिकस्वास्थ्यकोप्रभावितकरताहै।घरमेंअभिभावकोंकीअपेक्षावस्कूलमेंप्रतिस्पर्धाकादबाव,किशोरियोंमेंभविष्यकेप्रतिभयपैदाकरताहै।

ब्रिटेनस्थितयूनिवर्सिटीआफएक्सेटरकेशोधकर्ताओंडा.लारेनस्टेंटिफोर्ड,डा.जार्जकाटसारिसवडा.एलेक्जेंड्राएलनकीटीमनेवर्ष1990सेवर्ष2021तकलड़कियोंकेमानसिकस्वास्थ्यकोलेकरप्रकाशितशोधोंकाअध्ययनकिया।उन्हेंदुनियाभरसेकुल11अध्ययनप्राप्तहुएथे।साक्ष्यबतातेहैंकिकिशोरियोंमेंकिशोरोंकेमुकाबलेमानसिकस्वास्थ्यकाखतराअधिकहोताहै।नएअध्ययनकीमुख्यलेखिकाडा.स्टेंटिफोर्डकहतीहैं,'हमेंउम्मीदहैकिहमाराकामलड़कियोंकेमानसिकस्वास्थ्यकेबढ़तेखतरोंकेप्रतिध्यानआकर्षितकरेगा।स्कूलोंकोशिक्षाप्रणालीऔरमाहौलकेप्रतिसोचनेऔरइसगंभीरविषयपरविमर्शबढ़ानेकेलिएप्रेरितकरेगा।'

By Day