गोपेश्वर,जेएनएन। उत्तराखंडकेचमोलीजिलेकेसोमेशपंवारनेदेशकेअंतिमगांवमाणा(बदरीनाथ)सेलेकरकन्याकुमारीतककेलिएसाइकिलयात्राशुरूकीहै।इसयात्राकामुख्यउद्देश्यपॉल्यूशनफ्रीइंडियाकेसाथकोरोनावायरससंक्रमणकोलेकरभारतकेनागरिकोंकोजागरुककरनाहै।सोमेशनेबतायाकिइसदौरानवोग्रीनहिमालयक्लीनहिमालयकासंदेशभीयात्राकेदौरानदेंगे।यहपहलीबारहैजबमाणाबदरीनाथसेसाइकिलकेजरिएइतनीलंबीदूरीतयकीजाएगी।चमोलीजिलेकेबदरीनाथस्थितबामणीगांवपांडुकेश्वरनिवासीसोमेशपंवारपेशेसेट्रैकिंगसेजुड़ेहुएहैं।उन्होंनेदेशकेअंतिमगांवमाणासेकन्याकुमारीतककेलिएसाइकिलयात्राशुरूकीहै।उन्हेंबदरीनाथकेधर्माधिकारीभुवनचंद्रउनियालनेरवानाकिया।धर्माधिकारीनेकहाकिसोमेशपंवारकोहिमालयकीजड़ीबूटियों,गंगा,पर्यावरण,ब्रह्मकमल,नीलकमलसमेतअन्यजीवजंतुओंकेबारेमेंअच्छीतरहसेजानतेहैं।वेपर्यावरणसंरक्षणकेलिएजनताकोअपनीयात्राकेदौरानबेहतरढंगसेसमझासकतेहैं।उम्मीदकीकिइसयुवाकेअभियानकोलोगसमझेंगेऔरपॉल्यूशनफ्रीइंडियाकीमुहिममेंसाथदेंगे।

दिल्ली,जयपुर,राजस्थान,पुणे,कर्नाटकजैसेस्थानोंकाभ्रमणकरलगभग40दिनोंमेंयहसफरतयकरनेकालक्ष्यरखागयाहै।सोमेशपंवारकाकहनाहैकिजबकोरोनासंक्रमणकेबादलॉकडाउनहुआथातोउसदौरानपर्यावरणकीसेहतभीसुधरीथी।इसलिएअबवहदेशभरमेंलोगोंकोपर्यावरणसंरक्षणकेलिएजागरूककरेंगे।उन्होंनेबतायाकियहयात्राचारहजारकिमीसेअधिकदूरीकीहै।साइकिलयात्राकेदौरानरास्तेमेंपड़नेवालेगांव,कस्बे,नगरोंमेंगुजरनेकेदौरानवहनागरिकोंकोपर्यावरणसंरक्षणकेप्रतिजागरुककरेंगे।

उन्हेंयहसमझायाजाएगाकिलॉकडाउनकेदौरानजिसप्रकारमनुष्योंनेप्रकृतिपरहस्तक्षेपनहींकियाउससेपर्यावरणसंरक्षितरहाहै।भविष्यमेंभीपर्यावरणसंरक्षितरखनेकेलिएनागरिकोंकोजागरूककियाजाएगा।सोमेशकहतेहैंकिउनकासपनाहैकिवहदेशकोसुंदरऔरस्वच्छरखनेमेंअपनीभागीदारीनिभाएं।इसकेलिएवहभगवानबदरीविशालकाआशीर्वादलेकरअपनीयात्राप्रारंभकररहेहैं।कार्यक्रममेंमाणाकेग्रामप्रधानपीतांबरमोलफा,अजयलालसहितकईलोगउपस्थितथे।

यहभीपढ़ें: Unlock5.0:वीकएंडपरबड़ीतादादमेंऋषिकेशपहुंचरहेरोमांचकेशौकीन,होटलऔरकैंपफुल;जामनेकियापरेशान

By Duncan