लंदन,पीटीआइ।ग्लोबलवार्मिगकाअसरदुनियाकेहरछोरपरपड़रहाहैऔरआर्कटिकभीइससेअछूतानहींहै।विज्ञानीइसकीबर्फकीलगातारनिगरानीकरतेहैं।अबइसदिशामेंब्रिटिशअंटार्कटिकसर्वे(बीएएस)औरदएलनट्यूरिंगइंस्टीट्यूटकेनेतृत्वमेंविज्ञानियोंकेएकदलनेआर्टिफिशियलइंटेलीजेंसआधारितएकखासटूलविकसितकरनेमेंसफलताहासिलकीहै,जिससेइसकीबर्फकीनिगरानीऔरसटीकताकेसाथकीजासकेगी।विज्ञानियोंनेइसटूलकोआइसनेटनामदियाहै।

यहहोरहाहैबदलाव: इसप्रणालीकोविकसितकरनेवालेशोधकर्ताओंकेमुताबिक,बढ़तेतापमानकेकारणपिछलेचारदशकोंमेंआर्कटिककासमुद्रीबर्फक्षेत्रआधारहगयाहै।यहनुकसानग्रेटब्रिटेनकेआकारकेलगभग25गुनाक्षेत्रकेबराबरहै।शोधकर्ताओंकाकहनाहैकिइसबदलावकाअसरदुनियाभरदेखनेकोमिलेगा।यहीवजहथीकिहमएकबेहतरपूर्वानुमानप्रणालीविकसितकरनाचाहतेथे,ताकिऔरसटीकतासेभावीपरिवर्तनकाअनुमानलगाकरउचितकदमउठाएजासकें।

यहहोगालाभ: आइसनेटकीमददसेआर्कटिककीबर्फकेपिघलनेकासटीकपूर्वानुमानएकसीजनपूर्वहीलगायाजासकेगा।विज्ञानियोंनेइसप्रणालीको95फीसदसटीकपायाहै।इसकेजरियेसमयरहतेउचितकदमउठाएजासकेंगे,जिससेयहांरहनेवालेजीवोंकोबर्फकेपिघलनेसेहोनेवालेनुकसानसेबचायाजासके।

इसलिएमुश्किलहैपूर्वानुमान: उत्तरीवदक्षिणीध्रुवोंपरदिखाईदेनेवालेजमेहुएसमुद्रीजलकीविशालपरतकीप्रकृतिऔरव्यवहारकेबारेमेंपूर्वानुमानलगानाबेहदमुश्किलहै।इसकीवजहबर्फकेऊपरीऔरमहासागरकेभीतरीवातावरणकेबीचबेहदजटिलसंबंधहोनाहै।

इसतरहकामकरतीहैनवीनप्रणाली: आइसनेटप्रणालीकेबारेमेंविस्तृतजानकारीनेचरकम्यूनिकेशनंसनामकजर्नलमेंप्रकाशितकीगईहै।बीएएसएआइलैबकेडाटाविज्ञानीऔरइसअध्ययनकेप्रमुखलेखकटामएंडरसनकेमुताबिक,आर्कटिकउनस्थानोंमेंशामिलहै,जहांजलवायुपरिवर्तनकासबसेअधिकअसरदेखनेकोमिलताहै।बीते40वर्षोमेंयहांकाफीगर्माहटदेखनेकोमिलीहै।यहीवजहहैकिअभीतकयहांकीबर्फकीनिगरानीकेलिएजिनपारंपरिकप्रणालियोंकाप्रयोगहोरहाथाउससेबेहतरप्रणालीकीजरूरतपड़ी।आइसनेटकोडीपलर्निगकांसेप्टकेआधारपरतैयारकियागयाहै।इसनईप्रणालीमेंसेटेलाइटसेंसरसेमिलेडाटाकाविश्लेषणपारंपरिकजलवायुमाडलकेडाटाकेसाथकियाजाताहै।

By Day